Brahmin samaj shayri

मैं झुक नहीं सकता...! मैं शौर्य का अखंड भाग हूं। जला दे जो दुश्मनों की रूह तक...! मैं ब्राह्मणत्व की वही आग हूं। #जय परशुराम

Read More

Jai Parsuram

भगवान में ताकत हैं दुनिआ को झुकाने की , वरना क्या जरूरत थी राम को झूठ बेर खाने की

Read More

shayri

बुराई का नाश हो, अच्छाई का एहसास हो, एक दूसरे के प्रति विश्वास हो, हर दिन आपके लिए खास हो |

Read More

Jai ram

धरती पर आया है तो कुछ काम कर प्यारे, भगवन के परकोप से डर न तो उसका नाम ले प्यार

Read More