Vatan Shayri

मुझे तन चाहिए न धन चाहिए, बस अमन से भरा ये वतन चाहिए, जब तक जिंदा रहूँ इस मात्रभूमि के लिए, और जब मरू तो तिरंगा कफ़न चाहिए।

Read More

Independence Status

वतन पर जो फिदा होगा, अमर वो हर नौजवान होगा, रहेगी जब तक दुनिया ये, अफसाना उसका बयाँ होगा।

Read More

Independence Status

हम जियेंगे और मरेंगे ए वतन तेरे लिए, अपना लहू तक बहा देंगे तेरे लिए |

Read More