Hindi Shayri

Brahmin samaj Shayri

ब्राह्मण बदलते हैं तो नतीजे बदल जाते हैं,
सारे मंजर, सारे अंजाम बदल जाते हैं।

Comment here